[entertainment]


(जरूर पढ़े) अगर आप भी पेशाब रोकते हैं , तो हो सकती हैं कई खतरनाक परिणाम

किसी भी व्यक्ति के लिए पानी पीना जितना जरूरी होता है, उतना ही जरूरी वॉशरूम जाना भी होता है। लेकिन कई लोगों में अपनी पेशाब को रोककर रखने की आदत होती है। कभी-कभी काम में व्यस्त होने की वजह से, कभी आलस की वजह से या फिर कभी किसी मजबूरी की वजह से ऐसा करना पड़ता है। हम अक्सर ही इस बात को छोटी सी बात समझकर गंभीरता से नहीं लेते। लेकिन मैं आपको बता दूँ कि लंबे समय तक अपनी पेशाब को रोककर रखना स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिए बहुत हानिकारक हो सकता है। इस वजह से कई गंभीर बीमारियां होती हैं।  




तो आइये आज हम जानते हैं कि लंबे समय तक पेशाब को रोके रखना कितना ख़तरनाक हो सकता है।   






शरीर की गन्दगी निकलती है बाहर 



बाथरूम जाना एक बहुत ही प्राकृतिक प्रक्रिया है। हमें एक दिन में कई बार बाथरूम जाने की जरूरत होती है, ताकि हमारे शरीर में मौजूद अतिरिक्त गंदे पदार्थ, जिनकी हमें जरूरत नहीं है, शरीर से बाहर निकल जाये।  
सबकी पेशाब रोकने की क्षमता होती है अलग पेशाब रोकने की क्षमता इस बात पर निर्भर करती है कि आपके शरीर में कितने यूरिन का निर्माण होता है। इसके अलावा आप कितना पानी पीते हैं और आपके ब्लैडर की क्षमता भी इसका निर्धारण करती है। बहुत से लोग 3-6 घंटों तक अपनी पेशाब रोक लेते हैं, पर कुछ लोग ऐसा नहीं कर पाते।
  
लंबे समय तक पेशाब रोके रखने से गंभीर यूरिनरी इन्फेक्शन्स हो जाते हैं 






इसके अलावा बैक्टीरियल इन्फेक्शन्स भी होते हैं, जो यूरिनरी ट्रैक्ट को प्रभावित करते हैं। यह इसलिए होता है कि यूरिन में मौजूद जर्म्स लंबे समय तक ब्लैडर पर बैठे रहते हैं और उसे इन्फेक्टेड कर देते हैं।  

किडनी में हो जाती है पथरी 


पेशाब रोकने से होने वाले ये इन्फेक्शन्स किडनी तक भी पहुँच जाते हैं और कई गंभीर बीमारियों को जन्म देते हैं। आप चाहे जिस भी वजह से अपनी पेशाब रोक रहे हो, इस बात का ध्यान जरूर दें कि ऐसा करने से किडनी में पथरी हो सकती है। फिर जब यह 'किडनी स्टोन्स' यूरिन के जरिये निकलने की कोशिश करते हैं तो असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है।

महिलाओं में होती है ये समस्या 






Cystitis वो बीमारी है, जिसमें ब्लैडर की वॉल्स में जलन होती हैं। इसमें पेल्विस में दर्द होता हैं और पेशाब के समय जलन और दर्द होता है। 

ब्लैडर में जाती है सूजन 


एक औसत ब्लैडर, एक बार में 15 औंस तक लिक्विड स्टोर करके रख सकता है। अगर आप एक दिन में 8 गिलास पानी पीते हैं, तो औंस में यह 64 औंस होता है। इसलिए अगर आप पानी पीते जाते हैं और इसे निकालते नहीं है तो आपके ब्लैडर पर दबाव बढ़ जाता है।  

और भी कई समस्याएं लेती है जन्म 


पेशाब रोकने से मूत्र विसर्जन के समय दर्द, बुख़ार, कंपकंपी, पेट दर्द, ऐंठन, चिंता और पेशाब रोक लेने की वजह से किसी और काम में ध्यान लग पाना जैसी समस्याएं भी होती हैं। 

ब्लैडर के मसल्स भी होते हैं कमजोर



निरंतर यूरिन को होल्ड करके रखने से ब्लैडर के मसल्स कमजोर भी हो जाते हैं। जिस वजह से यूरिनरी रिटेंशन की दिक्कत भी हो जाती है। इस स्थिति में आप पूरी तरह से ब्लैडर खाली नहीं कर पाते हैं और आपको बार-बार पेशाब करने का मन होता है। 
(जरूर पढ़े) अगर आप भी पेशाब रोकते हैं , तो हो सकती हैं कई खतरनाक परिणाम (जरूर पढ़े) अगर आप भी पेशाब रोकते हैं , तो हो सकती हैं कई खतरनाक परिणाम Reviewed by Ankita Deshmukh on सोमवार, जनवरी 16, 2017 Rating: 5
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...