[entertainment]


दुनिया के सबसे अद्भुत रेलमार्ग, जानें भारत का कौन सा रेलमार्ग है शामिल

दुनिया भर में कई ऐसी खतरनाक जगहें स्थित हैं, जहाँ किसी आम इंसान का जाना मुमकिन नहीं है। ठीक उसी तरह से दुनिया में कई बेहद डरावने एवं खतरनाक रेल मार्ग भी हैं, जिनमें सफर करने के दौरान लोगों का कलेजा मुँह तक जाता है। परंतु ऐसे मार्गों का भी अपना एक अलग ही रोमांच है। रोमांच के शौकीन लोगों को यह रास्ते जन्नत की तरफ ही लेकर जाते हैं।

दुनिया के सबसे अद्भुत रेलमार्ग, जानें भारत का कौन सा रेलमार्ग है शामिल


यदि बात रेल मार्गों की हो, और भारत की बात ना आए ऐसा होना मुमकिन नहीं है। भारत के इस विस्तृत रेल जाल में कुछ मार्ग ऐसे भी हैं जिनमें सफर करने के लिए आपको करना होगा अपना दिल मजबूत।

आइये जानते हैं ऐसे ही कुछ रेल मार्गों के बारे में, जहाँ रोमांच पसंद लोग जरूर जाना चाहेंगे एक बार।

1. क्युम्बर्स & टॉलटेक सीनिक रेलरोड, न्यू मैक्सिको


इस रेलमार्ग की खूबसूरती तो आप तस्वीर में देख ही चुके हैं। मनमोहक दृश्यों से भरे पड़े 64 मील लम्बे इस रेलमार्ग का निर्माण 1880 में किया गया था। इस मार्ग का नाम 800 फ़ीट ऊँचे टॉलटेक मार्ग 10,015 फ़ीट ऊँचे क्युम्बर्स पास के ऊपर रखा गया है।
ज्ञात हो कि क्युम्बर्स पास अमेरिका का सबसे ऊँचा पास है, इसी में से होकर यह अद्भुत रेलमार्ग 1971 से लोगों को मनोहर प्राकृतिक दृश्यों की सैर करा रहा है। इस रेलमार्ग में भाप इंजन संकरे रास्तों, कई घुमावदार मोड़ एवम सुरंगों को पार करता हुआ अपनी मंज़िल तक पहुंचता है।

2. कुरंड सीनिक रेलरोड, ऑस्ट्रेलिया


यह 34 किमी लंबा रेलमार्ग कैर्न्स को क़्वींसलैंड स्थित कुरंड शहर से जोड़ता है। इस मार्ग की ख़ास बात यह है कि यह मार्ग विश्व धरोहर के रूप में संजोय गए बर्रों राष्ट्रीय उद्यान एवम मैकलिस्टर रेंज के अत्यंत घने वर्षावन से होकर गुजरता है। इस मार्ग की सुंदरता वाकई अद्वितीय है। इस अदभुत मार्ग का निर्माण 1882 से 1891 के बीच हुआ था।

इस मार्ग के बीच में पड़ने वाले कई झरनों की फुहारे इसे और भी मनोरम बना देते हैं। अपना सफर पूरा करने के दौरान इस मार्ग पर रेलगाड़ी कुल 15 सुरंगों, 93 मोड़ों एवम 40 पुलों पर से होकर गुजरती है।

3. एर्गो गेडे रेलमार्ग, इंडोनेशिया


दिल की धड़कन रोक देने वाला यह रेलमार्ग जकार्ता को बंडुंग शहर से जोड़ता है। अपने इस सफर में आप हरे मैदानों से लेकर निर्जन पहाड़ों पर से होकर गुजरेंगे। इस सफर का सबसे मुश्किल भाग होता है 200 फ़ीट ऊँचे 'सिकुरतुग पुल' को पार करना जो कि मुसाफिरों को नीचे स्थित घाटी का मनोरम दृश्य प्रस्तुत करता है।

4. जॉर्ज टाउन लूप रेलमार्ग, कोलोराडो, अमेरिका


कोलोराडो स्थित रॉकी माउंटेन के रास्ते जॉर्जटाउन एवम सिल्वर प्लूम को आपस में जोड़ने वाला यह रेलमार्ग अमेरिकी रेल के लिए एक धरोहर की तरह है। इस रेलमार्ग को 1877 में चांदी की खदानों तक पहुँचने के उद्देश्य से बनाया गया था। यह रेलमार्ग 1939 में बन्द कर दिया गया था परंतु इसके बाद 1984 में इसे पर्यटकों के लिए दोबारा शुरू कर दिया गया। इस मार्ग का मुख्य आकर्षण 100 फ़ीट ऊंचा 'डेविल्स गेट हाई ब्रिज' है।

5. आसमान पर बना रेलमार्ग, अर्जेंटीना


'ट्रेन लास न्यूब्स' या आसमान पर चलने वाली रेल के नाम से मशहूर 217 किमी लंबा यह रेलमार्ग अर्जेंटीना में साल्ता ला पोल्वोरिला को जोड़ता है। एंडीज पर्वत श्रृंखला में फैले इस रेलमार्ग को निर्माण के 27 वर्ष बाद 1948 में पर्यटकों के लिए खोला गया था।

अपने टेढ़े-मेढ़े सफर के दौरान रेल इस मार्ग में 29 पुलों, 21 सुरंगों 13 खाई पर बने ऊँचे पुलों पर से होकर गुजरती है। इस सफर का मुख्य आकर्षण पोल्वोरिला सेतु है। 224 मीटर लंबा एवम 13,845 फ़ीट ऊँचा यह सेतु इस मार्ग को दुनिया के सबसे ऊँचे रेलमार्गों में शामिल करता है।

6. डेविल्स नोज़ रेलमार्ग, इक्वाडोर


12 किमी लंबा यह रेलमार्ग एंडीज़ पर्वतश्रृंखला में अलौसी सीबॉम्बे के बीच फैला हुआ है। इस रेलमार्ग का निर्माण सन 1902 में किया गया था। डेविल्स नोज़ रेलमार्ग समुद्रतल से 9000 फ़ीट की ऊंचाई में फैला हुआ है। इसे बनाने एवम चालु रखने के लिहाज से यह मार्ग दुनिया के सबसे मुश्किल रेलमार्ग में से एक है।
तस्वीर में ही आप इस मार्ग में सफर करने का रोमांच अनुभव कर सकते हैं।

7. ल्यंटों & लिंमाउथ क्लिफ रेलवे, यूनाइटेड किंगडम


यह 862 फ़ीट लम्बी रेल लाइन 2 इंग्लिश शहरों ल्यंटों एवम लिंमाउथ को आपस में जोड़ती है। दिलचस्प बात यह है कि इस मार्ग का सफर लिंमाउथ से शुरू होकर 500 फ़ीट ऊँची सीधी चढ़ाई करते हुए गुजरता है।

यह रेलमार्ग 1890 में शुरू किया गया था। इस मार्ग की एक ख़ास बात यह भी है कि यह मार्ग एक्समोर राष्ट्रीय उद्यान के बीच स्थित होकर इस राष्ट्रीय उद्यान एवम उत्तरी डिवॉन तटीय मार्ग का मनोरम दृश्य भी प्रस्तुत करती है।

यह 110 मील लंबा मार्ग 1900 में अलास्का स्थित स्काग्वे को कनाडा के व्हाइटहॉर्स से जोड़ने के लिए क्लोंदिके गोल्ड रश के दौरान बनाया गया था। यह मार्ग 3000 फ़ीट की ऊंचाई तक 20 मील के रास्ते में चढ़ाई करता है। इस दौरान यह 2 सुरंगों एवम कई पुलों को पार करता है। इसमें 1901 में बना कप्तान विलियम मूर पुल भी शामिल है जिसकी लम्बाई 110 फ़ीट है।

8. पम्बन पुल, भारत


दक्षिण भारत में स्थित यह रेल पुल पम्बन द्वीप पर बसे रामेश्वरम शहर को भारत के मुख्य शहर से जोड़ता है। 1911 में इस पुल का निर्माण कार्य आरम्भ किया गया था एवम 1914 में इस मार्ग से आवाजाही शुरू की जा सकी। 6776 फ़ीट लंबा यह पुल दुनिया के सबसे कठिनाई भरे रेलमार्गों की सूची में भी पहले पायदान पर काबिज़ है।

समुद्र के तल से अधिक ऊंचाई ना होने के कारण इस पुल को खतरनाक समुद्री लहरों का सामना भी करना होता है। इस रेलमार्ग को चालू रखने के लिए भारतीय रेलवे के तकनीशियों का एक समूह सालों से इसकी देखभाल में लगा हुआ है।



दुनिया के सबसे अद्भुत रेलमार्ग, जानें भारत का कौन सा रेलमार्ग है शामिल दुनिया के सबसे अद्भुत रेलमार्ग, जानें भारत का कौन सा रेलमार्ग है शामिल Reviewed by Lafandars on बुधवार, फ़रवरी 08, 2017 Rating: 5
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...