[entertainment]


ये 8 किरदार ही आमिर खान को बनाते है - मिस्टर परफेक्शनिस्ट

बॉलीवुड में खान तिकड़ी का कोई मुकाबला नहीं है , लोगों में जितना खान नाम का क्रेज़ है उसे नकारा नहीं जा सकता। तीनों खानों में आमिर को उनके पूर्णतावादी रवैये और बहुमुखी प्रतिभा के लिए जाना जाता है। एक कलाकार के रूप में जो छाप आमिर ने छोड़ी है वह अद्वितीय है। आज हम इस पोस्ट में बात करेंगे आमिर खान के उन 10 यादगार किरदारों की जिनकी बदौलत आमिर खान बॉलीवुड के मिस्टर पेरफ़ेक्शनिस्ट बने :-

अमर मनोहर - अंदाज़ अपना अपना 

1994 में आयी फिल्म अंदाज़ अपना अपना को आज भी उस दौर की सर्वश्रेष्ठ कॉमेडी फिल्मों में शुमार किया जाता है। शायद सलमान के साथ उनकी केमिस्ट्री कह ले या आमिर का एक्टिंग का अपना अंदाज़ लेकिन फिल्म अंदाज़ अपना अपना में अमर मनोहर के किरदार में आमिर ने वाकई हम सबको प्रभावित किया। 40वें फिल्म फेयर अवार्ड्स के दौरान इस फिल्म के लिए आमिर खान का नाम सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए नामांकित हुआ था। 

एसीपी अजय राठौड़ - सरफरोश 

कॉमेडी किरदार से अलग साल 1999 में आयी फिल्म सरफरोश में आमिर एक देशभक्त पुलिसवाले के किरदार में नज़र आये एसीपी अजय राठौड़ के किरदार को फिल्म समीक्षकों से काफी प्रशंसा मिली और दर्शकों के जेहन में आमिर अपनी अलग छवि बनाने में कामयाब रहे। 

लगान - 
भुवन 


ब्रिटिश शासन पृष्ठ बुमी पर बनी फिल्म लगान में आमिर खान ने भुवन का किरदार निभाया था , जो कि अंग्रेजों द्वारा लगाये गए भारी कर को माफ़ करवाने के लिए उनसे एक क्रिकेट मैच खेलता है । फिल्म लगान को ऑस्कर अवार्ड्स के लिए भी नामांकित किया गया था और इससे आप फिल्म में आमिर खान के किरदार और कलाकारी का अंदाजा लगा सकते हैं ।

दिल चाहता है – आकाश

2001 में आई फिल्म दिल चाहता है तीन दोस्तों की कहानी थी जिसमें वर्षों में आने वाले बदलाव को बेहतरीन तरीके से परदे पर प्रदर्शित किया गया । फिल्म दिल चाहता है में आमिर खान ने आकाश का किरदार निभाया था जो एक नासमझ और बिगडैल स्टूडेंट है जो धीरे धीरे प्यार और रिश्तों को समझ जाता है । अगर आज भी दोस्ती पर आप कोई बेहतरीन फिल्म देखना चाहते हैं तो यकीन मानिए दिल चाहता है से बेहतरीन कोई फिल्म नहीं हो सकती।

रंग दे बसंती – डिजे/ चंद्रशेखर आजाद

2006 में प्रदर्शित फिल्म रंग दे बसंती ने हर भारतीय के दिल को छुआ । फिल्म एक संवेदनशील मुद्दे पर आधारित थी जिसमें आमिर खान ने मनमौजी डीजे और देशभक्त क्रांतिकारी चंद्रशेखर आज़ाद का का किरदार निभाया था । इस फिल्म ने दर्स्खों का दिल जीत लिया और आमिर खान को लोग आज भी डीजे के किरदार के लिए याद करते हैं ।

गजनी- संजय सिंघानिया 


2008 में आई मनोविज्ञानिक रोमांटिक थ्रिलर फिल्म गजनी यक़ीनन आमिर खान के करियर के सर्वश्रेस्ठफिल्मों में से एक है । फिल्म में आमिर ने एक बिजनस मैन से 15 मिनट में अपनी यादास्त खो जाने वाले विच्त्र प्रेमी के के किरदार को बहूत बखोब्बी निभाया है ।

थ्री इडियट्स - रैंचो /फुन्सुख वांगडू 


यह 2009 कॉमेडी फिल्म की कहानी के साथ एक उल्लेखनीय छाप छोड़ दी गई और मजबूत संदेश जो दर्शकों के बीच भेजा गया। आमिर की बेहतरीन अभिनय कौशल ने उन्हें नॉटी रेंचो से फुन्सुख वांगडू के किरदार में साथ आसानी से बदल दिया।

दंगल – महावीर फोगाट 

फिल्म दंगल में महावीर फोगाट का क्रिदार निभाना किसी कलाकार कल इए आसन काम नहीं था । लेकिन आमिर खान ने इसे बेहद सरलता से निभाया । किसी रोल के लिए अपने लुक्स में बदलाव करना आमिर खान की विसेषता रही है । जिसे आमिर ने आज तक बखूबी निभाया हैं ।
ये 8 किरदार ही आमिर खान को बनाते है - मिस्टर परफेक्शनिस्ट ये 8 किरदार ही आमिर खान को बनाते है - मिस्टर परफेक्शनिस्ट Reviewed by Ankita Deshmukh on शुक्रवार, अप्रैल 21, 2017 Rating: 5
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...